जीवन में पढ़ाई का महत्व | jeevan me padhai ka mahatva

जीवन में पढ़ाई का महत्व | jeevan me padhai ka mahatva-

jeevan me padhai ka mahatwa

















जीवन में पढ़ाई का महत्व - 

इस संसार में परमात्मा ने एक मनुष्य जाति को ही अन्य प्राणियों से इस प्रकार  अलग बनाया है की वह अपनी भावनाये और इच्छाएं प्रगट करने के लिए  बातचीत कर सकते है। उन्हें उसने प्राणी का उपहार दिया जिसे यहाँ मनुष्य बोलते है वाणी अछरो  से मिलकर बनती है मतलब पहले अछर फिर शब्द और उसके बाद में वाक्य बनाये जाते है। जिन्हे मनुष्य वाक्यों में प्रयोग करके एक दूसरे की बातचीत को समझ पाते है। वाणी का उपहार तो परमात्मा ने देकर भेजा है किन्तु उसको लिखना और पढ़ना तो समाज में ही सिखाया जाता है अर्थात लिखित भाषा को जानने के लिए मनुष्य का पढ़ना लिखना अत्यंत आवश्यक है। जो मनुष्य पढ़े-लिखे है वो साक्षर व शिक्षित कहे जाते है और जो मनुष्य पढ़ेलिखे नहीं है वे निरछर और अशिक्षित कहें जाते है। समाज में मान सम्मान और इज्जत प्राप्त करने के लिए आदमी का पढ़ा लिखा होना अत्यंत आवश्यक है।

शिक्षा प्राप्त करना प्रत्येक बच्चे का मौलिक अधिकार है पढ़ा लिखा व्यक्ति ही ज्ञानी और बुद्धिमानी बनता है तथा समाज में उच्चा पदों को प्राप्त करता है। अनपढ़ व्यक्ति को समाज में कोई भी स्थान प्राप्त नहीं हो पाता और लोग उसे मुर्ख और गवार समझते है। उसके द्वारा दिए गए परामर्शो पर कोई भी विचार नहीं करना चाहता। अनपढ़ व्यक्ति समाज में उपेक्षा के भाव से देखा जाता है। अनपढ़ व्यक्ति रुपये पैसे का हिसाब रखना ,संपत्ति पर अधिकार आदि बातो को नहीं समाझ पाते है। इसलिए दूसरे व्यक्ति उसे मुर्ख बनाकर उसके धन संपत्ति पर अपना अधिकार जमा लेते है।

समाज में ऐसा देखने को आता है की झूठे और बेईमान व्यक्ति उन्हें उलटी सीधी बाते समझकर उनकी धन संपत्ति को कागजो पर उनके अंगूठे लगवाकर उन्हें अपने नाम करा लेते है। तब ऐसे निरछर व्यक्ति अपने भाग्य को कोसते हुए आंसू बहाते है इतना ही नहीं निरछर लोग आत्महीनता के शिकार होते है वे पढ़े लिखे लोगो के सामने अपने को बहुत ही तुच्छ समझते है उनका सामना करने से घबराते है। 

अतः यह कहा जाता है की निरछरता मानव मात्र के लिए अभिशाप है और जिस समाज में निरछर लोग है वह समाज कभी भी उन्नति नहीं कर सकता है। इसलिए यदि आजभी हमें इस बात का ज्ञान हो जाय की शिक्षा प्राप्त करने से व्यक्ति अपने व्यक्तित्व को बना पाता है। मनुष्य किसी भी आयु में शिक्षा प्राप्त कर सकता है। कहा भी गया है की सुबह का भूला हुआ व्यक्ति यदि साम को घर आ जाय तो उसे भूला नहीं कहेगे।  

यदि बचपन में शिक्षा  प्राप्त नहीं हो सकी तो सरकार के साक्षरता अभियान में भाग लीजिये और साक्षर बनिए। साक्षर बनकर ही नीति राजनीति और घर परिवार के नियम और समाज के कानून आदि विषयो को पढ़कर हम समय के साथ साथ चल सकते है। साथ ही हमें यह संकल्प भी लेना है की हमारे साथ साथ दूसरा कोई भी व्यक्ति और बालक निरछर ना रहजाये। हम कह सकते है की साक्षरता से ही शिक्षा के विभिन्न आयामों में प्रवेश किया जा सकता है। आधुनिक वैज्ञानिक युग में वैज्ञानिक उन्नति प्राप्त करने के लिए भी प्रत्येक व्यक्ति को साक्षर और शिक्षित होना अत्यंत आवश्यक है।
mahatwa padhai ka

Life changing principles of your life 

जो आप सोचते है और fill करते है उसे आप Attract करते है अपनी ओर आकर्शित करते है । जितना हो सके आप Positive सोचने की कोशिश करो जितना हो सके अच्छा fill करो क्योकि जब हम सोचते है जैसी हमारी सोच होती है वैसा ही हम बनते चले जाते है। फिर वैसे ही हम Action लेते है और वैसे ही हमारी life होती चली जाती है। अगर हमको अपनी life में Positive Results चाहिए तो हमें Positive ही सोचना होगा। हम Negative सोच कर Positive Result की उम्मीद नहीं कर सकते Positive Result नहीं बना सकते। अगर हमें Result में Positive चाहिए तो सोच को Positive बनाना होगा।

polytechnic diploma kya hota hai 

 दुसरो के साथ में आप जैसा करोगे आपके साथ भी वैसा ही होगा दुसरो को Judge मत करो Help  करो आपको भी वैसा  मिलेगा। आपको खुशी मिलेगी आपका मन खुश होगा और आप अपनी लाइफ में और अच्छे मन से अपनी Life को Enjoy करोगे। इस तरह से आपकी life पहले से Better होती चली जाएगी। किसी का बुरा करोगे किसी के बारे में बुरा सोचोगे आपको बुरा fill होगा अंदर से नफरत भरी हुई है Negative Fillings है तो आपकी Life भी धीरे धीरे बुरी होती चली जाएगी।

 जिस पर भी Focus करते है वो बढ़ता है फैलता है।  जो आप चाहते है अपनी लाइफ में उसी पर Focus करो न की उस पर जो आप नहीं चाहते है। इस तरह से जो आप नहीं चाहते वो अपने आप आपकी Life से गायब हो जायेगे। जिस तरह लैंस से पेपर पर आप जलने लगती है उसी तरह से एक जगह focus करने से वह ज्यादा Effective  होता है जहा पर भी आपका ज्यादा Focus होगा वहाँ  आपका मन होगा आपका Concentration  होगा उसमे आप काम करोगे Action लोगे वो बढ़ेगा चाहे वो पैसा हो या  लोगो के साथ में सम्बन्ध हो।

इस संसार में हर इंसान के पास किसी भी subject को लेकर अपनी एक  Thinking (विचारधारा) होती है। Positive सोच रखने वाले व्यक्तियों से मिलने से आपकी सोच Positive बन जाती है। जब की Negative सोच रखने वाले लोग आपकी जिंदगी से Positive Thinking को निकाल देते है।  ऐसे सोच वाले लोगो के साथ रहे जो आपको Positive Advice देते हो इससे आपको अपने आप में परिवर्तन महसूस होगा। Positive Thinking अपने आपमें Success व संतोष लेकर आती है।

आपके पास में जितना भी है उसका कुछ हिस्सा दुसरो को दो। बंद मुट्ठी से नातो दुआ मांगी जाती है और नातो दुआ दी जाती है। आपके पास जो भी है उसका एहसानमंद  रहो और शुक्रगुजार करो  इससे और जादा मिलता है अपनी Life में। ये थे कुछ Principle अगरआप Success Full तरीके से ये  Principle अपनी Life में Apply  कर देते हो तो इन Principle में इतनी ताकत है की ये आपकी पूरी जिंदगी को बदल सकते है। आपकी पूरी जिंदगी को एक नयी Direction में ले जा सकते है।

इन्हे भी पढ़े -
-Top 10 interview question and answer

1 comment: