इंटरनेट कैसे काम करता है ? internet work kaise karta hai

इंटरनेट कैसे काम करता है internet work kaise karta hai,internet ka मालिक कौन है  इसे कौन चला रहा है Internet मेरे तक पहुचता कैसे है kya hota hai
 आज के Time में बिना Internet के रहना बहुत मुश्किल है लेकिन आपने कभी सोचा है ये Internet काम कैसे करता है? कैसे किसी को कभी ज्यादा speed मिलती है और कभी किसी को कम Speed मिलती है क्यों अलग अलग Operator अलग अलग tariff plan देते है, internet का मालिक कौन है ? इसे कौन चला रहा है? Internet मेरे तक पहुचता कैसे है ? इंटरनेट कैसे काम करता है ? internet work kaise karta hai

what is internet? (internet क्या है ?) -

आप इंटरनेट की मदद से दुनिया की किसी भी जगह की जानकारी प्राप्त कर सकते है। दो या दो से अधिक Computer का आपस में जोड़ना Internet (International network of computer)कहलाता है। भारत में सबसे पहले BSNL ने Internet की शुरुआत 1995 में किया था। इसके बाद में सभी Private Company ने धीरे धीरे internet  शुरू किया था।

Internet काम कैसे करता है ?
दोस्तों India को मिलाकर ये पूरा word Internet से जुड़ा हुआ है लेकिन आपने कभी ये नहीं सोचा होगा की ये काम कैसे करता है अगर आपको लगता है की ये internet satellite से चलता है तो ये गलत है। 90% Internet चलता है Optical fibers cable से। जिस भी कंपनी का आप SIM Card use करते है उस tower से लेकर पूरी एक cable बिछी हुई है। अगर आप किसी भी network provider company को internet का use करने के लिए पैसे देते है तो आपको तो internet GB में मिल जाता है जितने GB का plan आप recharge कराते है। लेकिन उस company ने आगे किसको पैसे दिए या internet की दुनिया में सबसे ऊपर कौन है ?

 internet का मतलब ये है अगर आप अपने mobile या computer से इस पोस्ट को dearhindi.com से पढ़ रहे है तो ये पोस्ट आप तक हजारो किलोमीटर दूर या india से बाहर  उपस्थित google के किसी server से आता हैऔर वो वहा से आपके mobile तक आपके browser में search करने से आता है। इस पोस्ट का डाटा आपके mobile या computer तक आ रहा है। इसका मतलब एक connection तो होना चाहिए आपके mobile से उस server तक। अब ये server india से बाहर है। तो इसके लिए कई सारी company है जो डाटा को भेजने और लाने का काम करती है Optical fibers cable के द्वारा। 

आपके mobile तक internet आते आते तीन अलग अलग कंपनी से गुजरता है। पहला है TR-1 Company, second है  TR-2 Company तीसरा है TR-3 Company . TR-2 और TR-3 company state में और छोटे छोटे शहर में अपनी Optical fibers cable (इन्हे submarine cable भी कहते है)  बिछा कर रखी है।  और TR -1 company ये वो company  है जिसने पूरी दुनिया में समंदर (sea) के अन्दर अपना cable बिछा  के रखी है Internet एक तरह से पूरा Free होता है Free कैसे होता है आप अगर अपने घर से 50 km दूर internet का use करना चाहते है तो आपको आपके घर से 50  km दूर  तक एक cable  बिछा करके  दो कंप्यूटर को आपस में connect कर दो और बोल दो की ये Internet है। आपको शिर्फ़ उस Wire के Maintenance का खर्च उठाना पड़ेगा। इंटरनेट कैसे काम करता है ? internet work kaise karta hai

इसी तरह TR -1 company ने पुरे world में सभी देशो के बीच में समंदर के अन्दर से Optical fibers cable (submarine cable)बिछा दी अब सारे cable connect हो गए country TO country अब आपको country से स्टेट में divide  करना होता है और स्टेट से आपको city में divide करना पड़ता है और city से आपतक local area तक पहुचाया जाता है।TR -1  company जो Optical fibers cable (submarine cable) को समंदर के अन्दर बिछाती है वो कुछ इस  तरह से दिखाई देती है।  इसमें एक एक cable  अपने बाल की साइज़ से भी पतली होती है और एक Optical fibers cable के अन्दर 100 Gbps की speed रहती है।

internet speed,work of internet,optical fober cable,100GB,submarine cable,

India की बात करते है  -

 india में जो Optical fibers cable है वो मुंबई में है जो की इसका landing point है india के operators Reliance-jio, airtel, idea  इन्होने अपने टावर लगवा कर रखे है और India में कही से भी आप कोई भी वेबसाइट में visit करते है जिनके server india के बाहर है वो landing point Mumbai  से निकलेगा इन Optical fibers cable की मदद से और वो चला जाता है उस लोकेशन तक जहा पर वो है। india में Optical fibers cable का landing point, Mumbai ,Chennai, Kochin इन landing point से होकर ही आपका internet चलता है। india में जहाँ पर जिसके server है  वो वहा से आपका डाटा निकाल देगा।

internet speed,work of internet,optical fober cable,100GB,submarine cable,



Reliance-Jio ने अपना खुद का Optical fibers cable  बिछाकर रखा है एशिया अफ्रीका और यूरोप के बीच में इसलिए relince jio आपको कम पैसो  में internet दे देता है क्योकि Reliance jio ने एक बार अपना investment कर दिया है और अगर आप एशिया अफ्रीका और यूरोप की country में जाते है और आप कोई वेबसाइट visit करते है तो Automatically ये उनकी Optical fibers cable  से डाटा को निकाल देता है और इस तरह इनका कोई भी पैसा नहीं लगता है। Reliance-jio 4G लाने के लिए पिछले 5 सालो से इस पर काम कर रहा था Optical fibers cable india के अंदर बिछाने के लिए india के बाहर सभी जगह पहले से ही Optical fibers cable बिछी हुई है। india के अंदर Optical fibers cable बिछने से अच्छी स्पीड 4G speed मिलती है। Optical fibers cable का map  देखने के लिए आप visit कर सकते है www.submarinecablemap.com पर।

internet speed,work of internet,optical fober cable,100GB,submarine cable,

TR -1 कंपनी ने अपना  Optical fibers cable बिछा दिया और पुरे word को connect कर दिया है अब होता क्या है ये केबल crack हो जाती है फट जाती है क्योकि समंदर के अन्दर है और maximum 25 साल से ज्यादा इनकी life नहीं रहती है अब अगर cable फट गई समंदर में कही पे तो इनके लिए वे कई सारी cable को बिछाकर रखते है और internet तो फ्री होता है बस इसका maintenance का चार्ज लगता है जो TR -1 कंपनी को देना पड़ता है तो पर GB के हिसाब से TR -1 कंपनी को पैसा मिल जाता है।  Optical fibers cable को बिछाने और उसको maintenance करने का चार्ज कंपनी को देना पड़ता है बस बाकी और कुछ भी नहीं देना पड़ता है।

कभी कभी अगर Cable ख़राब हो जाती है तो जो Speedआपको मिल रही होती है वो कम हो जाती है क्यों की Optical fibers cable कट गयी और जो भी data जा रहा था इन्ही से जा रहा था यहाँ पर ये लोग Backup बनाकर रखते है और इसे Manage करना पड़ता है software से आपको कुछ भी नहीं करना है आपको बस internet चलाना है और आपतक डाटा जो आप search करते है किसी भी Browser से वो आपतक पंहुचा दिया जाता है दुनिया के किसी भी Server पे।

अब आपको पता चल गया होगा की Internet कैसे काम करता है internet का मालिक कौन है? सबसे ऊपर वो Company जिन्होंने Optical fibers cable को समंदर के अन्दर बिछाया दूसरी वो कंपनी जिन्होंने State Lable पर Network है वो तीसरी वो कंपनी जो छोटे छोटे City में Network provide करती है। ऐसे डेटा का Transfer होता रहता है और आपके प्लान के हिसाब से आपको speed मिलती रहती है जैसे 2G, 3Gऔर 4G Speed.

इन्हे भी पढ़े -

1 comment: