Differences between QA and QC in hindi

Differences between QA and QC in hindi-  quality kya hai what is quality? qa full form in hindi qc meaning methods quality in hindi language and notes
QAऔर QC का full form(QA) Quality Assurance  और  (QC) Quality Control  होता है।

 Quality Control :- ये Quality  management का हिस्सा है जो की quality requirement को full-fill करने के लिए काम करता है।
Quality Assurance :- QA भी Quality  Management का हिस्सा है  लेकिन ये confidence provide करने के लिए है की quality requirement full-fill and final  किया जाएगा।

quality control in hindi,quality posters,qc images

Quality Assurance :-



इसमें हम systematic activity करते है इसमें काफी सरे document होते है जैसे (sop) standard operating procedure बनाते है इसमें हम FMEA (failure mode defect analysis) करते है control plan बनाते है work instruction बनाते है। यह process पर focus  करते हुए product  development के time में आप जो activity करते है उसे quality assurance कहते है।  ये prevent करने के लिए action लेता है। यह proactive quality process है।   अच्छे quality management को स्थापित करना और उसके performance  को भी check करते रहना audit करना  हम तरह तरह के audit करके system में quality assurance system को manage करने की कोशिश करते है। QA पर statistical technic  का इस्तेमाल process पर किया जाता है। उसको हम (CTQs) critical to  quality and (CTPs) critical to process भी कहते है  इन दोनों को manage करने के लिए हम statistical technic का इस्तेमाल करते है।  जिसे(SPC)statistical process control भी कहते है।  इसमें  responsibility सब लोगो की होती है यानी की अलग अलग department के लोग अपना अपना role play करते है जैसे production ,quality ,maintenance हर एक department का  अपना अपना एक role  होता है।  इसमें हम  quality का  varification करते है। Quality assurance एक managerial TOOL  है।  इसमें अलग अलग department के जो manager  होते है वो involve होते है system बनाने के लिए process design करने के लिए development करने के लिए जिससे की quality assurance maintain रहे।

Quality control :-
यह product में quality insure करने के लिए use किया  जाता है। जब product production के बाद में manufacturing process में आ जाता है तो उस समय में हम जो activity करते है उसे हम Quality Control कहते है। जो part produced किया जा रहा है उसमे defect identification  करके उसमे improvement  करने के लिए  QC का  use किया जाता है।  Development होने के बाद में जब product manufacturing में चल रहा हो उस समय में ये defect identify  किया जाता है। हमारे product में जो defect के sources है उन्हें identify करना जिससे की customer की requirement को पूरा किया जा सके। यह एक corrective tool होता है मतलब problem होने के बाद में आप उसमे analysis करके improvement करने की कोशिश करते है। यह एक specific टीम की responsibility होती है जो की product को Test करता है defect को identify करता है और उसमे improvement करने की कोशिश  करता है। इसमें भी statistical technic का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन finished product में मतलब product के बनने के बाद में statistical technic का इस्तेमाल करते है (process के output में  )और इसे हम कहते है (SQC)statistical quality control कहते है।

Difference between QA and QC

ये कुछ points है  Quality Assurance  and Quality Control में difference समझने के लिए।

 Quality Assurance:-

1. यह process पर focus  करते हुए product  development के टाइम में आप जो activity करते है उसे quality assurance कहते है। 
 2.  ये prevent करने के लिए action लेता है। यह proactive quality process है।   
3. इसमें testing करने के जो process  और product को development करने के जो process  है उन्हें  हमको develop करना होता है।  product के development के time में ही हम ये कोशिश करते है की आने वाले दिनों में defect आये  ही नहीं । 
4. अच्छे quality management को स्थापित करना और उसके performance  को भी check करते रहना। audit करना  जैसे product audit , process audit , system audit  हम तरह तरह के audit करके system में quality assurance system को manage करने की कोशिश करते है। 
5. इसमें हम systematic activity करते है इसमें काफी सरे document होते है जैसे (sop) standard operating procedure बनाते है इसमें हम FMEA (failure mode defect analysis) करते है control plan बनाते है work instruction बनाते है। etc..
6. इसमें  responsibility सब लोगो की होती है यानी की अलग अलग department के लोग अपना अपना role play करते है जैसे production ,quality ,maintenance हर एक department का  अपना अपना एक role  होता है। 
7. इसमें हम  quality का  varification करते है। 

8. statistical technic का इस्तेमाल किया जाता है. QA पर statistical technic  का इस्तेमाल process पर किया जाता है। उसको हम (CTQs) critical to  quality and (CTPs) critical to process भी कहते है  इन दोनों को manage करने के लिए हम statistical technic का इस्तेमाल करते है।  जिसे(SPC)statistical process control भी कहते है। 
9. Quality assurance एक managerial TOOL  है।  इसमें जो  अलग अलग department के जो manager  होते है वो involve होते है system बनाने के लिए process design करने के लिए development करने के लिए जिससे की quality assurance maintain रहे। 


Quality Control 

1. यह product में quality insure करने के लिए use किया  जाता है। जब product production के बाद में manufacturing process में आ जाता है तो उस समय में हम जो activity करते है उसे हम Quality Control कहते है। जो part produced किया जा रहा है उसमे defect identification  करके उसमे improvement  करने के लिए  QC का  use किया जाता है। 
2. यह product में defect identify करके उसमे correction करने के लिए होता है। 
3. Development होने के बाद में जब product manufacturing में चल रहा हो उस समय में ये defect identify  किया जाता है। 
4. हमारे product में जो defect के sources है उन्हें identify करना जिससे की customer की requirement को पूरा किया जा सके। 
5. यहाँ पर हम production की quality process की quality को maintain करने के लिए कुछ technic का इस्तेमाल करते है। 
6. यह एक specific टीम की responsibility होती है जो की product को Test करता है defect को identify करता है और उसमे improvement करने की कोशिश  करता है। 
7. इसमें हम validation करते है और testing करते है। 
8. इसमें भी statistical technic का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन finished product में मतलब product के बनने के बाद में statistical technic का इस्तेमाल करते है (process के output में  )और इसे हम कहते है (SQC)statistical quality control कहते है। 
9. यह एक corrective tool होता है मतलब problem होने के बाद में आप उसमे analysis करके improvement करने की कोशिश करते है। 

इन्हे  भी पढ़ें -

3 comments: